हारमनी ऑफ द पाइन्स’ बैंड ‘प्रेरणास्रोत पुरस्कार’ से सम्मानित, राज्यपाल ने सम्मानित किए कलाकार, बैंड ने दी राजभवन में प्रस्तुति

हारमनी ऑफ द पाइन्स’ बैंड ‘प्रेरणास्रोत पुरस्कार’ से सम्मानित
राज्यपाल ने सम्मानित किए कलाकार, बैंड ने दी राजभवन में प्रस्तुति

हिमाचल पुलिस के ‘हारमनी ऑफ द पाइन्स’ बैंड , जिन्होंने मुंबई में कलर्स टीवी के रियल्टी शो ‘हुनरबाज’ में अपनी दमदार प्रस्तुति से देश में न केवल राज्य पुलिस बल का प्रतिनिधित्व कर मान-सम्मान बढ़ाया बल्कि देश का गौरव भी बढ़ाया है, को सम्मानित किया। राज्यपाल ने उन्होंने ‘‘प्रेरणास्रोत पुरस्कार’’ प्रदान किए।
इस मौके पर राज्यपाल ने कहा कि समाज को संदेश देने के लिए ‘हारमनी ऑफ द पाइन्स’ बैंड को माध्यम बनाकर इसका उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व भी बैंड के माध्यम से राज्य पुलिस बल ने नशा, कोरोना महामारी, यातायात प्रबंधन इत्यादि पर वीडियो बनाए हैं। भविष्य में भी ऐसे ही सामाजिक विषयों को लेकर इनका योगदान लिया जा सकता है।
राज्यपाल ने कहा कि ‘खाकी बर्दी’ के ये जवान इतने प्रतिभावान और प्रतिभाशाली हैं जिसका वर्णन नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा किए ‘‘ इस बैंड के वीडियो क्लिप देखे थे और गोवा से भी उन्हें बैंड की परफार्मेंस को लेकर फोन आते रहे। बैंड की उपलब्धि को वे अपनी उपलब्धि मानते हैं। उनकी प्रस्तुति का कोई मुकाबला नहीं है। मुझे इनपर गर्व है।’’


आर्लेकर ने कहा कि इस उपलब्धि के बाद निश्चित तौर पर पुलिस के प्रति लोगों का रवैया बदलने वाला है और ‘लोक मित्र’ पुलिस की छवि में इससे और निखार आएगा। उन्होंने कहा कि बैंड की पब्लिक परफार्मेंस होना जरूरी है क्योंकि इससे आप लोगों तक जानकारी जाएगी। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की कि इन के लिए एक व्यवसायिक स्तर का स्टुडिया तैयार किया जाएगा जिससे इनकी प्रस्तुति में और सुधार होगा। उन्होंने राज्य पुलिस द्वारा अब तक के सफर में किए गए महत्वपूर्ण प्रयासों पर ‘म्यूज़िकल वीडिया’ तैयार करने का भी आग्रह किया। उन्होंने इस बैंड की शानदार उपलब्धि में पुलिस अधीक्षक श्री संजय कुण्डू के प्रयासों की सराहना की तथा कहा कि उनके योगदान से ही यह बैंड आज देश भर में चर्चा का विषय बना हुआ है और इसके प्रत्येक कलाकार को उचित सम्मान मिल रहा है।


पुलिस महानिदेषक श्री संजय कुण्डू ने राज्यपाल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश पुलिस ऑर्केस्ट्रा, जिसे ‘हार्मनी ऑफ द पाइन्स’ के नाम से अधिक जाना जाता है, वर्ष 1996 में अस्तित्व में आया। उन्होंने कहा कि आरकैस्ट्रा बैड ने एक विनम्र शुरूआत के साथ अपनी यात्रा शुरू की, जिसमें प्रदेश पुलिस में प्रतिभाशाली पुलिस कर्मचारियों को पुलिस विभाग के कार्यक्रमों में रैडक्रास सोसाईटी द्वारा आयोजित चौरिटी-शो और कार्यक्रमों में प्रदर्शन करने के लिये प्रोत्साहित किया गया। पुलिस आरकैस्ट्रा ने भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रमों, दूरदर्शन के प्रसिद्ध कार्यक्रमों और अन्य राज्य स्तरीय कार्यक्रमों एवं मेलों में भी अपना प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि पुलिस नेतृत्व लगातार हिमाचल प्रदेश पुलिस आरकैस्ट्रा बैड का समर्थन करता रहा है ताकि वे अपने कौशल को और बेहतर बना सकें। उन्हें हाल ही में नवीनतम संगीत वाद्य यंत्र और सहायक उपकरण प्रदान किये गए हैं और उन्हें गाने रिकॉर्ड करने के लिए एक समर्पित स्टूडियो उपलब्ध कराने का भी प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में बाल व महिला अपराध, सड़क दुर्घटनाएं, संगठित अपराध इत्यादि विषयों को लेकर वीडियो तैयार किए जाएंगे।
इससे पूर्व, हिमाचल प्रदेश पुलिस ऑर्केस्ट्रा द्वारा तैयार किए गए ‘हुनरबाज़ देष की षान’ और अन्य गानों पर एक प्रस्तुतिकरण दिखाया गया। पुलिस ऑर्केस्ट्रा द्वारा विख्यात गानों की श्रंख्ला भी प्रस्तुत की, जिसे सुनकर राज्यपाल भी प्रभावित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: