आईजीएमसी अस्पताल में अब फिर से ऑपरेशन से पहले करवाना होगा कोरोना का टेस्ट, मामलों को देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने लिया फैसला

आईजीएमसी अस्पताल में अब फिर से ऑपरेशन से पहले करवाना होगा कोरोना का टेस्ट, मामलों को देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने लिया फैसला

देश के कई राज्यो में कोरोना के मामले बढ़ने लगे है। हिमाचल प्रदेश में भी कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है । राजधानी शिमला में कोरोना के मामले ज्यादा नहीं है लेकिन आईजीएमसी अस्पताल सतर्क हो गया है ओर अस्पताल में अब दोबारा से ऑपरेशन से पहले कोरोना टेस्ट करवाना अनिवार्य कर दिया गया है। बिंना कोरोना टेस्ट के अब कोई भी ऑपरेशन नही किया जाएगा। डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर ये फैसला अस्पताल प्रशासन ने लिया है।

आईजीएसमी के एमएस डॉक्टर जनकराज ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर कोरोना को लेकर जरूरी दिशा निर्देश दिए जाते हैं कोरोना के मामलों को देखते हुए और डॉक्टरों के सुरक्षा के मद्देनजर कोरोना टेस्ट करवाना अनिवार्य किया गया है डॉक्टरों की पहले ही कमी है यदि कोई डॉक्टर संक्रमित होता है तो 14 दिन तक उन्हें होम आइसोलेशन में रहना पड़ता है। ऐसे में एहतियात के तौर पर ऑपरेशन से पहले मरीजों का करो ना का टेस्ट करवाना जरूरी कर दिया गया है।

बता दे कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए आईजीएमसी प्रशासन ने ऑपरेशन से पहले कोरोना न करने का फैसला लिया था लेकिन अब फिर से कोरोना के मामले बढ़ने से बिना टेस्ट के ऑपरेशन न करने का फैसला लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: