मोदी सरकार जवाब दे की क्या 47 लाख हिन्दुस्तानियों को मौत के मुंह में धकेलकर, “विश्वगुरु” बना जा सकता है: नेगी निगम भंडारी

मोदी सरकार जवाब दे की क्या 47 लाख हिन्दुस्तानियों को मौत के मुंह में धकेलकर, “विश्वगुरु” बना जा सकता है: नेगी निगम भंडारी


WHO के मुताबिक- भारत में कोरोना से दुनिया में सबसे ज्यादा लोगों की जान गई, देश में 47,00,000 से अधिक लोगों की जान गंवानी पड़ी। मोदी सरकार के दिए आंकड़ों से 10 गुना ज्यादा है ये आकड़े। प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी ने कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि मदद तो दूर, मौत पर भी झूठ बोलने वाली सरकार देश ने पहली बार ही देखी है। भाजपा सरकार को जनता की नहीं बल्कि सिर्फ अपनी सत्ता की फिक्र है। यही कारण है कि भारत स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में पिछड़ रहा है। भाजपा सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार करने में विफल रही है ।



नेगी निगम भंडारी ने यह भी कहा कि भाजपा सरकार के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति बदतर हुई है। वर्ष 2020 में 72% मौतें अस्पताल के बाहर हुई हैं। उन्होंने ने कहा कि ये आंकड़ा भाजपा सरकार में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति को बयां करने के लिए काफी है। ऐसे समय में स्वास्थ्य देखभाल के कुप्रबंधन की भयावहता की कल्पना करें, जब लाखों मौतें का कोई रिकॉर्ड ही नहीं है। उन्होंने यह भी कहा की जब ऑक्सीजन के अभाव में लोगों की मृत्यु हुई तो उन्होंने परवाह नहीं की। जब दंगों में लोग मारे गए तो उन्हें परवाह नहीं थी। जब लोग भूख से मरे तो उन्हें परवाह नहीं थी, क्या यही है अच्छे दिनों वाली सरकार? ‘अच्छे दिनों’ का सपना दिखाकर नागरिकों की बर्बादी वाले दिन दिखाए जा रहे हैं।
उन्होंने ने कहा कि कोरोना महामारी से 47 लाख लोगो की मौत हुई है, न की 4.8 लाख लोगो की जैसा की सरकार ने दावा किया था। इस परिस्थिति में जिन परिवारों ने अपनो को खोया है उनका सम्मान होना चाहिए और उन्हें 4 लाख रुपए का मुआवजा उनकी मदद के लिए उपलब्ध करवाया जाना चाहिए।


WHO की रिपोर्ट ने भारत सरकार के झूठ की सारी पोल खोल कर रख दी है, ये देश के लिए शर्म का विषय है कि केंद्र सरकार की नाकामियों के चलते वक्त रहते हम अपने देश के नागरिकों को बचा पाए। उन्होंने कहा कि सरकार का मृतकों के परिवार को मुआवजा देने का वायदा अभी तक जुमला साबित हुआ है। उन्होंने मांग की है कि कोरोना आयोग की तत्काल स्थापना की जाए, जिसमें सभी राजनैतिक दलों के सदस्यों को शामिल किया जाए अगर सरकार दावा करती है कि हमने सभी मृतकों के परिवार बालों को मुआवजा दे दिया है तो उसे सार्वजनिक करे अभी तक कितने परिवार के लोंगो को मुआवजा दिया गया है। नेगी ने कहा कि केंद्र सरकार अपना फर्ज निभाए और हर पीड़ित परिवार को ₹4 लाख का मुआवजा उनकी मदद के लिए उपलब्ध करवाए। इस प्रेस वार्ता में प्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग की वाईस चैयरमैन शुबरा जिंटा, प्रदेश प्रवक्ता हेमंत शर्मा व प्रदेश संयोजक एलोब चौहान भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: