सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन के लिए लड़ेगी हिमाचल में कांग्रेस चुनाव, सामूहिक नेतृत्व में लड़ा जाएगा चुनाव,संगठन में परिवर्तन निरंतर प्रकिया, दिल्ली से चल रही जयराम सरकार,आसमान छू रही महँगाई-सूखु

सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन के लिए लड़ेगी हिमाचल में कांग्रेस चुनाव, सामूहिक नेतृत्व में लड़ा जाएगा चुनाव,संगठन में परिवर्तन निरंतर प्रकिया, दिल्ली से चल रही जयराम सरकार,आसमान छू रही महँगाई-सूखु

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी सत्ता परिवर्तन के बजाय व्यवस्था परिवर्तन के उद्देश्य से आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने वाली है।काँग्रेस पार्टी विधायकों की संपत्ति और आय के साधनों को सार्वजनिक करने के मक़सद से पारदर्शिता कानून और जनहित के विकास कार्यों में गुणवत्ता लाने और जिम्मेदारी तय करने के मक़सद से रिस्पांसिबिलिटी कानून भी लाएगी और चुनाव सामुहिक नेतृत्व में लड़ा जाएगा।यह बात शिमला में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व वर्तमान विधायक सुखविंदर सिंह सूखु ने पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

सुखविंदर सिंह सूखु ने कहा कि जयराम सरकार का कंट्रोल दिल्ली में है और सभी निर्णय दिल्ली भाजपा हाई कमान ले रही है।मुख्यमंत्री लाचार नजर आ रहे।महँगाई पिछले आठ में आसमान छू रही है।तेल, रसोई गैस, दालें सभी आम आदमी की पहुंच से बाहर है।70 साल में इतनी कीमतें नहीं बढ़ी जितनी पिछली आठ साल में बढ़ गई और भाजपा केवल अपने राजनीतिक महत्वकांक्षा के लिए काम कर रही है।मुख्य सचिव पर भ्र्ष्टाचार के आरोप लगे हैं लेकिन सरकार जांच नहीं करवा रही।

प्रदेश कांग्रेस संगठन में परिवर्तन की चर्चाओं को लेकर सुखविंदर सिंह ने कहा कि यह एक निरंतर प्रक्रिया है और पार्टी हाई कमान समय समय पर इसको लेकर निर्णय लेता है।40 साल के बाद हिमाचल कांग्रेस को नया नेतृत्व मिलने जा रहा है और सामुहिक नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव लड़ेगी कोई मुख्यमंत्री चहेरा नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: