शिमला ग्रामीण विधानसभा में क्रिकेट का महाकुंभ शुरू विधायक विक्रमादित्य सिंह ने की शुरुआत युवाओं से नशे से दूर रहने का किया आह्वान


शिमला ग्रामीण विधानसभा में क्रिकेट का महाकुंभ शुरू विधायक विक्रमादित्य सिंह ने की शुरुआत युवाओं से नशे से दूर रहने का किया आह्वान

शिमला ग्रामीण विधानसभा में क्रिकेट का महाकुंभ  शुरू होने जा रहा है। युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए हिमाचल प्रदेश स्पोर्ट्स कल्चर एंड एनवायरमेंट एसोसिएशन की ओर से क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है जिसमें शिमला ग्रामीण की 257 क्रिकेट टीमें भाग ले रही है एसोसिएशन के महासचिव और शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने रविवार को सुन्नी में इस क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ किया इस दौरान उन्होंने टीमों को क्रिकेट किटें भी वितरित की गई। साथ ही विक्रमादित्य सिंह ने युवाओं को नशे से दूर रहने और नशे के खिलाफ लड़ने को लेकर शपथ भी दिलाई गई। 



इस क्रिकेट टूर्नामेंट में प्रथम पुरस्कार  तीन लाख , द्वितीय पुरस्कार दो लाख नकद और इसके अलावा कई अन्य पुरस्कार भी रखे गए है। मेन ऑफ टूनामेंट 50 हजार नकद,फाइनल में मेन ऑफ मैच 5 हजार नकद व बेस्ट ऑफ बॉलर,कीपर व फील्डर को 20 हजार दिए जाएंगे। यही नहीं इस बार महिलाओं के लिए भी रसाकसी  प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है जिसमे महिलाओं मंडलो की 200 टीमें  रसाकसी के आयोजन में भाग लेंगी।सभी प्रतिभागियों महिला मंडलो को पाँच हजार का नकद पुरस्कार से पुरस्कृत किया जाएगा।जीतने वाली महिला टीम को 20 हजार और रन्नर अप को 10 हजार नकद राशि प्रदान की जाएगी।



शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि आजकल नशे का ज्यादा प्रचलन हो रहा है खासकर चिट्टा युवाओं को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। इसके खिलाफ सभी को एकजुट होकर लड़ने की आवश्यकता है। युवाओं को नशे से दूर रहने के लिए शिमला ग्रामीण के लिए क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है जिसमें करीब शिमला ग्रामीण के 3000 से अधिक युवा हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में युवाओं को रोजगार देने के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे प्रदेश में जैसे ही कांग्रेस की सरकार आती है तो रोजगार मेलों का जगह-जगह आयोजन किया जाएगा विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि शिमला ग्रामीण में विधायक रहते हुए उन्होंने विकास कार्य करवाएँ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: