कैबिनेट की बैठक में SMC शिक्षकों को तोहफ़ा, अब SMC को 10 दिन की लीव सहित मिलेगा मातृत्व अवकाश, पंचायत चोकीदारी बनेंगे दिहाड़ीदार।

कैबिनेट की बैठक में SMC शिक्षकों को तोहफ़ा, अब SMC को 10 दिन की लीव सहित मिलेगा मातृत्व अवकाश, पंचायत चोकीदारी बनेंगे दिहाड़ीदार.

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की बैठक में प्रदेश के सरकारी स्कूलों में तैनात एसएमसी शिक्षकों को चुनावों से पहले सरकार ने बड़ा तोहफ़ा दिया है. SMC (School Management Comitee) को अब मेडिकल छूट्टियां भी मिलेगी. कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. SMC शिक्षक लम्बे समय से अपने लिए नीति व उक्त मांग कर रहे थे. सरकार के इस फैसले से प्रदेश के 2,555 शिक्षकों को फायदा होगा. SMC में तैनात महिला शिक्षकों को छ माह का मातृत्व अवकाश देने को भी मंजूरी प्रदान की है.



मंत्रिमंडल में हिमाचल की पंचायतों में तैनात चोकीदारी को दिहाड़ी दार बनाने का भी निर्णय लिया गया है. पंचायतों में पिछले 12 वर्ष का कार्यकाल पुरा कर चुके पंचायत चोकीदारो को दिहाड़ीदार बनाया जायेगा. हिमाचल की पंचायतों में 3000 से अधिक पंचायत चोकीदारी लगाए हैं. जिनको अभी तक अढाई से तीन हज़ार का मानदेय दिया जाता है. कैबिनेट में भीम राम अम्बेडकर के नाम से जिला पुस्तकालयों के नाम रखने को मंजूरी दी गई है. शिमला के सुन्नी में SDM कार्यालय खोलने को मंजूरी दी गई है।

इस अवसर पर एस.एम.सी अध्यापक संघ के अध्यक्ष मनोज रौगटा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर तथा शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज का आभार व्यक्त किया और उन्होंने कहा की प्रदेश सरकार ने क्लासे 10 समाप्त कर क्लासे 9 लगाया जिसके कलते अब एस.एम.सी अध्यापकों को भी 10 दिन के अवकाश के साथ तब तक नहीं हटाया जाएगा जब तक पूरे रिक्त पद भर नहीं जाते जिसके। उन्होंने प्रदेश सरकार के समक्ष आवेदन रखा हैं जी एस.एम.सी अध्यापकों के लिए भी स्थाई नीति का प्राबधान किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: