आंगनबाड़ी वर्करज़ एवं हेल्परज़ यूनियन सम्बन्धित सीटू राज्य कमेटी हिमाचल प्रदेश की बैठक प्रदेशाध्यक्ष नीलम जसवाल की अध्यक्षता में हुई सम्पन्न।

आंगनबाड़ी वर्करज़ एवं हेल्परज़ यूनियन सम्बन्धित सीटू राज्य कमेटी हिमाचल प्रदेश की बैठक प्रदेशाध्यक्ष नीलम जसवाल की अध्यक्षता में शिमला में सम्पन्न हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि यूनियन का राज्य सम्मेलन 10-11 सितंबर 2022 को कांगड़ा जिला के पालमपुर में आयोजित होगा जिसमें 220 प्रतिनिधि भाग लेंगे। बैठक में सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा,यूनियन अध्यक्षा नीलम जसवाल,महासचिव वीना शर्मा,हिमी देवी,अनुराधा,खीमी भंडारी,लता, कांता, बिमला ठाकुर,स्वर्चा देवी,सावित्री,सुदर्शना,बिमला देवी,वीना शर्मा,अंजुला कुमारी,हमिन्द्री,किरण भंडारी व श्यामा देवी आदि मौजूद रहे।



यूनियन अध्यक्षा नीलम जसवाल व महासचिव वीना शर्मा ने कहा कि यूनियन केंद्र सरकार की आंगनबाड़ी व जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आंदोलन तेज करेगी। यूनियन अपनी मांगों को लेकर 10 से 17 जून के मध्य हिमाचल प्रदेश के सातों लोकसभा व राज्यसभा सदस्यों को मांग-पत्र सौंपेगी। अपनी मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कर्मी 11 जुलाई को प्रदेशभर में मांग दिवस मनाएंगे। यूनियन अपनी मांगों को लेकर 25 से 29 जुलाई तक दिल्ली में महापड़ाव करेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार आईसीडीएस विरोधी कार्य कर रही है व उसका निजीकरण कर रही है। इसे वेदांता कम्पनी के हवाले किया जा रहा है। नंद घर भी निजीकरण की प्रक्रिया का ही हिस्सा है। उन्होंने निजीकरण पर तुरन्त रोक लगाने की मांग की। उन्होंने भारतीय श्रम सम्मेलन की सिफारिश अनुसार आंगनबाड़ी कर्मियों को नियमित करने की मांग की। उन्होंने हरियाणा की तर्ज़ पर वेतन देने व माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय अनुसार ग्रेच्युटी देने की मांग की। उन्होंने कर्मियों को प्री प्राइमरी में सौ प्रतिशत नियुक्ति देने,सेवानिवृति आयु 65 वर्ष करने,वर्ष 2013 की एनएचआरएम की बकाया राशि का भुगतान करने व मिनी आंगनबाड़ी कर्मियों को बराबर वेतन देने की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: